Friday, November 25th, 2022

एक्सीडेंट रोकने के लिए सरकार का एक और कदम,सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय को पत्र लिखकर ई-कॉमर्स कंपनियों पर सीट बेल्ट अलार्म ब्लॉक करने वाले उपकरण बेचने पर पाबंदी :-

देश में हर साल 1.5 लाख से ज्यादा लोग सड़क हादसों में अपनी जान गंवाते हैं. सरकार इन हादसों को रोकने के लिए लगातार कदम उठा रही है. एयरबैग्स कार में अनिवार्य करने साथ साथ कंपनी 8 सीटर वाहन में 6 एयरबैग को अनिवार्य करने पर विचार कर रही है. इसी दिशा में एक और कदम उठाते हुए सरकार एक और कदम उठाने की तैयारी में है.

एक्सीडेंट रोकने के लिए सरकार का एक और कदम, सीट बेल्ट अलार्म ब्लॉक करने वाले डिवाइस पर लगेगी रोक?

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय को पत्र लिखकर ई-कॉमर्स कंपनियों पर सीट बेल्ट अलार्म ब्लॉक करने वाले उपकरण बेचने पर पाबंदी लगाने का अनुरोध किया है. सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी है.

अधिकारी ने बताया कि केन्द्रीय उपभोक्ता संरक्षा प्राधिकार ने कार की सीट बेल्ट अलार्म को ब्लॉक करने वाला उपकरण बेचने वाली ई-कॉमर्स कंपनियों को इस साल मई में सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय को मिली शिकायत के आधार पर नोटिस भेजा था.

पिछली सीट के लिए भी अलार्म सिस्टम

केन्द्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने मंगलवार को कहा कि सरकार कार की पिछली सीटों के लिए भी सीट बेल्ट अलार्म प्रणाली लगाना अनिवार्य करने पर विचार कर रही है.

साइरस मिस्त्री की मौत के बाद उठे सवाल

महाराष्ट्र के पालघर जिले में सड़क दुर्घटना में रविवार को टाटा सन्स के पूर्व चेयरमैन साइरस मिस्त्री की मौत के बाद गडकरी ने यह बयान दिया है. मिस्त्री कार की पिछली सीट पर बैठे थेइस दुर्घटना पर पूरे देश में ही नहीं पूरी दुनिया से प्रतिक्रिया देखने को मिली है. मर्सिडीज ने भी अपने स्तर पर इस हादसे की जांच करने की ऐलान किया है. दुर्घटनाग्रस्त कार के कुछ हिस्से जांच के लिए हांगकांग भेजे गए हैं और मर्सिडीज की एक टीम खुद हादसे की जांच करने के लिए भारत आने वाली है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.