Friday, November 25th, 2022

अमेरिकी कंपनी सेंसहॉक को खरीदेंगे मुकेश अंबानी, 256 करोड़ में डील फाइनल :-

अमेरिका की इस कंपनी को खरीदेंगे मुकेश अंबानी, 256 करोड़ में डील फाइनल

मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज ने कहा है कि कैलिफोर्निया स्थित सोलर एनर्जी सॉफ्टवेयर डेवलपर कंपनी सेंसहॉक (SenseHawk) को खरीदेगी. इस खरीद के लिए रिलायंस और सेंसहॉक के बीच 320 लाख डॉलर यानी कि 256 करोड़ रुपये की डील फाइनल हो चुकी है. रिलायंस इंडस्ट्रीज सेंसहॉक में 79.4 परसेंट का मेजोरिटी शेयर खरीदेगा. इस डील से साफ जाहिर होता है कि मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज रिन्यूएबल एनर्जी के क्षेत्र में तेजी से आगे बढ़ रही है. रिलायंस इंडस्ट्रीज अपने तेल और केमिकल बिजनेस को कम कर सोलर या हाइड्रोजन एनर्जी के क्षेत्र में कदम बढ़ा रही है.

अमेरिकी कंपनी सेंसहॉक की स्थापना 2018 में कैलिफोर्निया में की गई थी. यह कंपनी सोलर इंडस्ट्री के लिए औजार बनाती है जिसका इस्तेमाल स्ट्रिमलाइन प्रोसेस और ऑटोमेशन में किया जाता है. पिछले वित्त वर्ष में सेंसहॉक का टर्नओवर 23 लाख डॉलर था. एक बयान में रिलायंस ने कहा, सेंसहॉक में अधिकांश हिस्सेदारी खरीदने के लिए एक करार हुआ है. इसकी कुल ट्रांजैक्शनल वैल्यू 320 लाख डॉलर है. इसी पैसे में कंपनी की ग्रोथ और नए-नए प्रोडक्ट की लॉन्चिंग भी शुरू की जाएगी. सेंसहॉक सोलर प्रोजेक्ट को शुरू करने के साथ ही सोलर प्रोडक्ट की प्लानिंग और प्रोडक्शन का काम भी देखती है. अन्य सोलर कंपनियों को ऑटोमेशन में भी मदद करती है.

क्या कहा मुकेश अंबानी :-

सेंसहॉक ने अभी तक 15 देशों में 140 से अधिक ग्राहकों को नई-नई टेक्नोलॉजी अपनाने में मदद की है. इसके अंतर्गत 600 से अधिक साइटों पर 100 गीगा वॉट्स से अधिक सोलर पावर पर काम हुआ है. रिलायंस ने कहा है कि इस साल के अंत तक सेंसहॉक के साथ अधिग्रहण का काम पूरा हो जाने की उम्मीद है. पिछले दो साल में रिलायंस ने ऊर्जा के नए स्रोतों पर 1.6 अरब डॉलर से अधिक खर्च किया है. इसमें ईपीसी, टेक्नोलॉजी और सप्लाई चेन आदि शामिल हैं. इन नए अधिग्रहण के बारे में रिलायंस के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर मुकेश डी अंबानी ने कहा कि उनकी कंपनी ग्रीन एनर्जी सेक्टर में बड़े बदलाव के लिए प्रतिबद्ध है. कंपनी साल 2030 तक 100 गीगा वॉट्स सोलर एनर्जी पैदा करने का लक्ष्य रखती है.

सेंसहॉक की खरीद से फायदा

मुकेश अंबानी का मानना है कि सेंसहॉक के साथ साझेदारी होने से सोलर प्रोडक्ट और सोलर एनर्जी की लागत कम करने में मदद मिलेगी. प्रोडक्टिविटी बढ़ेगी और ऑन टाइम परफॉर्मेंस भी बढ़ेगा. इस साझेदारी के बारे में सेंसहॉक के सीईओ और को-फाउंडर स्वरूप मवानूर ने कहा, राहुल सांखे, कार्तिक मेकाला, साईदीप तलारी, विरल पटेल और मैंने सोलर लाइफ साइकिल में सभी प्रक्रियाओं को प्रभावित करने के लिए एक विजन के साथ सहयोग किया. रिलायंस ने इस निवेश के साथ हम पर जो विश्वास दिखाया है, उससे हम खुश हैं. सेंसहॉक के अध्यक्ष और सह-संस्थापक, राहुल सांखे ने कहा कि यह साझेदारी नए उपयोग के रास्ते खोलेगी, नए बाजारों की मदद करेगी और पूरे सोलर लाइफ साइकिल में ग्राहकों को अधिक से अधिक फायदा देगी.

3 Responses

Leave a Reply

Your email address will not be published.