Saturday, November 26th, 2022

महंगाई की मार, दीपावली पर रंगाई पुताई नहीं आसान:पेंट से लेकर पेंटरों तक बढ़े दाम, 30 से 35 फीसदी तक सामानों के बढ़े रेट

दीपावली के कारण पेंट से लेकर पेंटरों तक बढ़े दाम, 30 से 35 फीसदी तक सामानों के बढ़े रेट। - Dainik Bhaskar

दीपावली के कारण पेंट से लेकर पेंटरों तक बढ़े दाम, 30 से 35 फीसदी तक सामानों के बढ़े रेट।

दीपावली पर इस बार घर को सजाना मध्यम वर्गीय परिवारों के लिए आसान नहीं होगा। कारण घर की पुताई के सामान से लेकर होने वाले पेन्ट आदि के सामान में 30 से 35% तक महंगे हो गए हैं।

हाल यह है कि 200 से 700 रुपए तक में लीटर में बिकने वाले पेंट के दामों में 30 से 35% की वृद्धि हो गई है। इस महंगाई का झटका खासकर उन लोगों को लगा है, जो इस बार धनतेरस और दीपावली पर गृह प्रवेश के लिए नए आशियाने की रंगाई पुताई करा रहे हैं। हाल यह कि पुताई के काम आने वाला ब्रश और रोलर तक पिछले साल की अपेक्षा इस बार दोगुने दाम में मिल रहे हैं।

दीपावली को लेकर नजर रंगाई पुताई का काम हुआ महंगा।

दीपावली को लेकर नजर रंगाई पुताई का काम हुआ महंगा।

नवरात्रि के साथ शुरू होती है दीपावली की तैयारी
नवरात्रि के साथ ही लोग घरों में साफ-सफाई और पुताई का काम शुरू कर दीपावली की तैयारी शुरू कर देते हैं। इसके मद्देनजर अधिकतर मकानों, दुकानों और प्रतिष्ठानों में साफ-सफाई सहित रंगाई-पुताई का काम शुरू हो जाता है।

इस बार घरों और दुकानों की साज सज्जा पर महंगाई की मार पड़ रही है। हाल यह है कि घरों को रोशन करने वाले चूना, डिस्टेंपर और आयल पेंट सभी के रेट तेजी से बढ़े हैं। इस साल घरों की पुताई का खर्च 30 से 55% फीसदी बढ़ गया है। जिससे इस बार की दीपावली लोगों के लिए और भी खर्चीला साबित हो रही है।

पेंट की दुकानों में भीड़, रेट सुन उड़ रहे होश
दीपावली के त्योहार को लेकर लोग घरों की साफ सफाई के साथ पेंट और पुताई का काम करा रहे हैं। पेंट की दुकानों में भारी भीड़ दिखाई पड़ रही है। हाल यह है कि लोग पुताई का सामान, तो बड़ी जोश में खरीदने पहुंच रहे हैं लेकिन इन सामानों के रेट सुनकर उनके होश उड़ जा रहे हैं।

पुताई के काम में आने वाले डिस्टेंपर के दामों की बात करें तो इनके रेट में 20 फीसदी से भी ज्यादा की बढ़ोत्तरी हुई है। 25 किलो की डिस्टेंपर की बाल्टी में तो एक हजार रुपये से अधिक का इजाफा देखा जा रहा है।

इसके साथ ही नील, सुलेश, फेविकॉल, कूची व ब्रश, रोलर, मेलामाइन, प्राइमर, तारपीन के तेल, पुट्टी, चूना के रेट में भी भारी इजाफा हुआ है। जिससे आम आदमी परेशान दिखाई पड़ रहा है तो वही कारोबारी भी बढ़ते दामों को लेकर परेशान हैं।

पेंटरों की दिहाड़ी भी दोगुनी

एक तरफ जहां रंगाई पुताई के सामान महंगे हुए हैँ तो वहीं तरफ पेंटरों की दिहाड़ी भी दोगुनी कर ली है। पिछले साल 400 रुपये दिहाड़ी लेने वाले पेंटर इस बार 800 से कम कि दिहाड़ी पर काम करने को ही तैयार नहीं हैं।

रंगाई व पुताई के सामानों हुई तेज बढ़ाेतरी के साथ पेंटर अब अपने दाम बढ़ जाने की बात कह रहे हैं। उनका कहना है कि महंगाई के इस दौर में अब उनकी दिहाड़ी भी बढ़नी चाहिए। जिसके चलते मजबूरन लोगों को अब दोगुने रेट पर पेंटर हायर करना पड़ रहा है।

दिहाड़ी मजदूर बन गए पेंटर

इन दिनों सबसे बड़ी परेशानी उन लोगों के लिए जो अपने घरों की साफ सफाई के लिए 400 से 500 में दिहाड़ी मजदूर खोज रहे हैं।

कारण कि दीपावली के दौरान पेंटरों की बढ़ी मांग के चलते पेंटरों की कमी का फायदा दिहाड़ी मजदूर उठाते हुए वह भी पेंटर बन बैठे और दोगुनी दिहाड़ी मांग रहे हैं। हाल यह है कि अब दिहाड़ी मजदूरों के हाथ में हथौड़ा नहीं बल्कि ब्रश और कूची लेकर बैठे दिखाई पड रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.