Saturday, November 26th, 2022

नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस(Police) में भिड़ंत, चलीं ईंट, टीयर गैस(Tear Gas) और वाटर कैनन

पश्चिम बंगाल में भाजपा के नबान्न अभियान को लेकर बंगाल में हंगामा मचा हुआ है. ममता बनर्जी सरकार के भ्रष्टाचार के खिलाफ बीजेपी नेता हल्ला बोल रहे हैं. जिले-जिले में भाजपा कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया जा रहा है. बीजेपी के नेता शुभेंदु अधिकारी, सांसद लॉकेट चटर्जी और पूर्व अध्यक्ष राहुल सिन्हा को हिरासत में ले लिया गया है. इस बीच, हावड़ा में पुलिस और भाजपा कार्यकर्ता आपस में भिड़ गये. भाजपा कार्यकर्ताओं ने बैरिकेड्स तोड़ने की कोशिश की, लेकिन असफल रहे. उसके बाद पुलिस ने वाटर कैनन चलाया और आंसू गैस के गोले छोड़े. इस बीच पुलिस और कार्यकर्ताओं के बीच भिड़ंत में कई घायल हो गये हैं.

बीजेपी ने ममता सरकार के खिलाफ नबान्न अभियान का आह्वान किया है. भाजपा का आरोप है कि ममता बनर्जी के नेतृत्व में लगातार भ्रष्टाचार हो रहे हैं और तृणमूल कांग्रेस के मंत्री और टीएमसी नेता इसमें शामिल हैं.

पुलिस पर भाजपा समर्थकों ने बरसाएं ईंट और पत्थर

नबान्न की ओर बढ़ रहे भाजपा समर्थकों ने पुलिस पर ईंट और पत्थरबाजी की. जमकर ईंट और पत्थर मारे. पुलिस को निशाना बनाया गया. पुलिस ने इसके खिलाफ वाटर कैनन छोड़े. दूसरी ओर,भाजपा के बंगाल अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने कहा कि वे लोग जनतांत्रिक तरीके से लड़ाई कर रहे हैं. हम गोली खाने के लिए तैयार हैं. बंगाल की रक्षा करने के लिए गोली करने के लिए तैयार हैं. पुलिस भयभीत है.भाजपा के नबान्न अभियान को लेकर प्रदेश की राजनीति गरमा गई है. भाजपा ने तृणमूल सरकार के खिलाफ कई शिकायतें उठाकर यह कार्यक्रम किया है. प्रशासन मंगलवार को बीजेपी के इस कार्यक्रम को रोकने की कोशिश कर रही है. पुलिस ने इस कार्यक्रम की इजाजत नहीं दी.

नबान्न अभियान को लेकर पुलिस की कड़ी सुरक्षा

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, शहर के अलग-अलग हिस्सों में दो अतिरिक्त पुलिस आयुक्त सुरक्षा के प्रभारी हैं. सुरक्षा व्यवस्था में डीसी रैंक के 18 अधिकारी तैनात हैं. इसके अलावा 32 सहायक आयुक्त, 62 निरीक्षक हैं. नबान्न अभियान को सफल बनाने के लिए प्रदेश भाजपा नेतृत्व बेताब है. पंचायत चुनाव से पहले यह भाजपा के लिए संगठनात्मक परीक्षा है. भाजपा का उद्देश्य जिले और विभिन्न प्रखंडों के नेताओं और कार्यकर्ताओं को लाना है. जिले के विभिन्न हिस्सों में भाजपा कार्यकर्ताओं-समर्थकों को नबान्न अभियान में हिस्सा लेने से रोकने के आरोप लगते रहे हैं. पुलिस से अनुमति न मिलने के बावजूद भाजपा कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए बेताब है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.