वृन्दावन का प्रेम मन्दिर

वृन्दावन का प्रेम मन्दिर

vrindavan-prem-mandir

नमस्कार मित्रो आज मै राहुल आज MATHURA VRINDAVAN TEMPLE की सीरीज में VRINDAVAN DHAM में स्थित प्रेम मंदिर के बारे में बताऊंगा |

इस मंदिर का निर्माण जगद्गुरु कृपालु महाराज द्वारा भगवान कृष्ण और राधा के मन्दिर के रूप में करवाया गया है।पेम मंदिर की नीव जगद्गुरु कृपालु महाराज ने 2001 में राखी थी|इस मंदिर के निर्माण में पूरे 11 वर्ष का समय और करीब 100 करोड़ का खर्चा आया | इस मंदिर के निर्माण में इटली देश के सफ़ेद संगमरमर पत्थर का उपयोग किया गया जिसको मंदिर में ही तराशा गया |

VRINDAVAN DHAM का ये मंदिर भारतीय शिल्पकला का अद्भुत नमूना है जिसमे राजस्थान,उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यो के हस्तशिल्पकारों की रात-दिन की मेहनत है |

ये मंदिर VRINDAVAN में पूरे 54 एकड़ में फैला हुआ है तथा इसकी ऊँचाई 125 फुट, लम्बाई 122 फुट तथा चौड़ाई 115 फुट है |इस मंदिर की एक विशेषता और है इसके लाइट वाले फुव्वारे जिसमे अनेक तरह की भगवान की झाकियाँ बनती है |पूरे विश्व से लोग इस खूबसुरत मंदिर को देखने आते है |

इस मंदिर में लगभग 94 स्तम्भ है जिनमे आपको राधा-कृष्णा की कई लीलाओ का वर्णन मिल जायेगा |

तो आपसे बस मै यही कहना चाहूँगा कि आप जब भी MATHURA DARSHAN को आये तो कृपया MATHURA VRINDAVAN TEMPLE की इस अभूतपूर्व कला के दर्शन जरुर कीजियेगा |

कृपया हमारे ecommerce shopping ब्लॉग को जरुर देखे अपनी ऑनलाइन शॉपिंग के लिए और MATHURA HINDI NEWS भी देख सकते है हमारी वेबपोर्टल mybrij.in पर |


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *