मीराबाई मंदिर वृन्दावन

MEERABAI-TEMPLE-VRINDAVAN

नमस्कार मित्रो आज में बृज से MATHURA VRINDAVAN TEMPLE की जानकारी की श्रंखला में आपको दूंगा VRINDAVAN DHAM में स्थित माँ मीराबाई के मंदिर की थोड़ी जानकारी |माता मीराबाई श्रीकृष्णा की बहुत बड़ी भक्त थी जो श्रीकृष्णा की भक्ति में अपने पति राजा भोजराज की मृत्यु के बाद चित्तौड़ के महल के सारे शाही आराम छोड़कर वृन्दावन में आकर श्री कृष्णा का ध्यान करने लगी और एक साधारण जीवन जीने लगी थी |माँ मीराबाई बचपन से ही अपने  आराध्य प्रभु श्री कृष्णा की बहुत बड़ी भक्त थी |

माँ मीराबाई का मंदिर वृन्दावन में निधिवन और शाहजी मंदिर के पास में ही पड़ता है |ये मंदिर पूरा राजस्थानी शैली में बना हुआ है |मंदिर में आपको हर तरफ हरियाली मिलेगी जिसमे आपको मनी प्लांट बहुत अधिक मिलेगा |कहा जाता है की माता मीराबाई ने पूरा जीवन इसी मंदिर में व्यतीत किया था |ऐसा भी कहा जाता है  चित्तौड़ के शासक राना ने माँ मीराबाई को मारने के लिए जहर देने की भी कोशिश की थी जो उसने एक डिब्बे में भेजा था किन्तु मीराबाई माता ने जैसे ही उसको खोला उसमे एक शालिग्राम की शिला निकली जो आज भी उस मंदिर में रखी है |तो आप जब भी  MATHURA VRINDAVAN DARSHAN हेतु आये तो यहाँ जरूर आये |

आज के लिए इतना ही अगला ब्लॉग भी बहुत जल्द पाये MYBRIJ.IN पर |तब तक सभी MATHURA HINDI NEWS हमारे पोर्टल पर|आप हमे facebook और twitter पर भी फॉलो कर सकते है |

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *